Sad Shayari in Hindi for WhatsApp Status or Facebook

बहुत मशरूफ हो शायद, जो हम को भूल बैठे हो,
न ये पूछा कहाँ पे हो, न यह जाना कि कैसे हो।

तोड़ा कुछ इस अदा से ताल्लुक उसने ग़ालिब,
के सारी उम्र अपना क़सूर ढूँढ़ते रह गए।

अजीब तरह से गुजर गयी मेरी भी जिंदगी,
सोचा कुछ, किया कुछ, हुआ कुछ, मिला कुछ।

ये मुहब्बत भी क्या रोग है फ़राज़,
जिसे भूले वो सदा याद आया।

नाकामयाब मोहब्बत ही सच्ची होती है !!
कामयाब होने के बाद मोहब्बत नहीं बचती !!

shayari sad hindi img

मेरे सब्र की इन्तेहाँ क्या पूछते हो ‘फ़राज़’
वो मेरे सामने रो रहा है किसी और के लिए।

दो चार नही मुझे सिर्फ एक दिखा दो,
वो शख्स जो अन्दर भी बाहर जैसा हो।

लाख पता बदला, मगर पहुँच ही गया,
ये ग़म भी था कोई डाकिया ज़िद्दी सा।

ये भी एक तमाशा है इश्क ओ मोहब्बत में
दिल किसी का होता है और बस किसी का चलता है

परवाह करने की आदत ने तो परेशां कर दिया,
गर बेपरवाह होते तो सुकून-ए-ज़िंदगी में होते।

ये मुकरने का अंदाज़ मुझे भी सीखा दो
वादे नीभा-नीभा के थक गया हूँ मैं…।

ये जो मेरे दामन पर कजरारे छींटें हैं थोड़े-बहुत
झाँक के देखो,तेरे गिरेबाँ से धूल कुछ उडी लगती है।

शेरो-शायरी तो दिल बहलाने का ज़रिया है साहब,
लफ़्ज़ कागज पर उतारने से महबूब नहीं लौटा करते।

वो अपने फ़ायदे की खातिर फिर आ मिले थे हम से,
हम नादान समझे के हमारी दुआओं में असर बहुत है..

shayari in hindi sad img

वो अपनी ज़िंदगी में हुआ मशरूफ इतना;
वो किस-किस को भूल गया उसे यह भी याद नहीं।

सारी दुनिया की खुशी अपनी जगह …
उन सबके बीच तेरी कमी अपनी जगह .

सिखा दी बेवफ़ाई करना ज़ालिम ज़माने ने तुम्हे,
कि तुम जो भी सीख जाते हो हम पर ही आजमाते हो…

तेरे बाद किसी को प्यार से ना देखा हमने…..
हमें इश्क का शौक है, आवारगी का नही…

ले रहे थे मोहब्बत के बाज़ार में इश्क की चादर…
लोगो ने आवाज़ दी कफन भी ले लो…

वफादार और तुम…?? ख्याल अच्छा है,
बेवफा और हम…?? इल्जाम भी अच्छा है…

वादा निभाया ना जाए तो वादा किया ना कर,
इस खेल में वादे नही दिल टूटा करते हैं…

लोग कहते है हम मुस्कराते बहुत है…
और हम थक गए दर्द छुपाते छुपाते…

लम्हों की दौलत से दोनों महरूम रहे ,
मुझे चुराना न आया, तुम्हें कमाना न आया

लगता है इस बार मुझे मोहब्बत होकर ही रहेगी,
आज रात ख्वाब में मैंने खुद को बरबाद होते देखा है!

ये ना पूछ कितनी शिकायतें हैं तुझसे ऐ ज़िन्दगी,
सिर्फ इतना बता की तेरा कोई और सितम बाक़ी तो नहीं।

मेरी हर शायरी मेरे दर्द को करेगी बंया ए गम
तुम्हारी आँख ना भर जाएँ, कहीं पढ़ते पढ़ते।

कहीं किसी रोज़ यूँ भी होता,
जो हमारी हालत है वो तुम्हारी होती,
जो रात हमने गुजारी तड़प कर,
वो रात तुमने भी गुजारी होती।

तुम खास नहीं हो ,मगर हर सांस में हो
रू-ब-रू नहीं हो मगर ,हर एहसास में हो
मिलोगे या नहीं मगर ,मेरी हर तलाश में हो
चाहे पूरी हो या ना हो ,मगर हर आस में हो
दूर ही सही तुम ,मगर फिर भी पास ही हो।

झलक जाने दो पैमाने, महखाने भी क्या याद रखेंगे,
आया था कोई दीवाना, अपनी मोहब्बत को भूलाने.

हर रात जान बूझकर रखता हूँ दरवाज़ा खुला…
शायद कोई लुटेरा मेरा गम भी लूट ले…..

मसरूफ़ जिंदगी में तेरी याद के सिवा …
आता नहीँ है कोई मेरा हाल पूछने !!

“सदमो से कोई “मर नहीं जाता,
तेरे सामने है “मिशाल मेरी।

वो मेरी किस्मत मैं नहीं, ये सुना है लोगों से,
फिर सोचता हूँ, किस्मत खुदा लिखता है, लोग नहीं….

वो एक रात जला……. तो उसे चिराग कह दिया !!!
हम बरसो से जल रहे है ! कोई तो खिताब दो .!!!

वो इस कमाल से खेले थे इश्क की बाजी …..!!
मैं अपनी फतह समझता रहा मात होने तक…!!!
कब तक तेरे फरेब को हादसे का नाम दूँ,
ऐ इश्क तूने तो मेरा तमाशा बना दिया.

वो जान गयी थी ,हमे दर्द में मुस्कराने की आदत हैं
वो रोज नया जख्म देती थी मेरी ख़ुशी के लिए

वो कतरा बनके हुए आपे से बाहर …
मैँ दरिया होकर भी अपनी औकात मेँ हूँ”
ताज्जुब है तेरी गहरी मुहब्बत पर,
तू हमारी रूह में, और हम तेरे वहम ओ गुमान में भी नही।

समजने समजाने मे ही गुजर गई तू,
ए जिन्दगी तूजे एकबार भी जी न पाए हम।

उसे लगता था कि उसकी चालाकियां हमें समझ नहीं आतीं
हम बड़ी खामोशी से देखते थे उसे अपनी नजरों से गिरते हुए।

दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता;
रोता है दिल जब वो पास नहीं होता;
बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में;
और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता।

ला तेरे पेरों पर मरहम लगा दूं…
कुछ चोट तो तुझे भी आई होगी मेरे दिल को ठोकर मार कर…!!!

ये वक़्त बेवक़्त मेरे ख्यालों में आने की आदत छोड़ दो तुम,
कसूर तुम्हारा होता है और लोग मुझे आवारा समझते हैं..!!

रूठा रहे वो मुझसे ये मंज़ूर है हमें लेकिन,
यारो उसे समझाओ के मेरा शहर न छोड़े…

वो शायद मतलब से मिलते हैं,
मुझे तो मिलने से मतलब है.!

सामने होते हुए भी तुझसे दूर रहना,
बेबसी की इससे बड़ी मिसाल क्या होगी.

मोहब्बत की आजतक बस दो ही बातें अधूरी रही,
इक मै तुझे बता नही पाया, और दूसरी तूम समझ नही पाये.

आँधियों में भी जो जलता हुआ मिल जाएगा..
उस दिये से पूछना, मेरा पता मिल जाएगा..

भरोसा ना करना इस दुनिया के लोगों पे
मुझे तबाह करने वाला मेरा बहुत अज़ीज़ था.

हालात ने तोड़ दिया हमें कच्चे धागे की तरह…
वरना हमारे वादे भी कभी ज़ंजीर हुआ करते थे..

होठों ने सब बातें छुपा कर रखीं,
आँखों को ये हुनर… कभी आया ही नहीं..

मोहब्बत नही तो मुकदमा हि दायर कर दे जालिम,
तारीख दर तारीख तेरा दीदार तो होगा.

मैं मोहब्बत करता हूँ तो टूट कर करता हुँ…
ये काम मुझे जरूरत के मुताबिक नहीं आता….

कुछ आरजू दिल मै दबी ही रह जाये तो अच्छा है,
ना दिल टूटने का डर ना दिल दुखाने का.

हर मुलाक़ात पर वक़्त का तकाज़ा हुआ ;
हर याद पे दिल का दर्द ताज़ा हुआ .!

हुनर-ओ-इश्क अब सीख कर आया हूँ………
चलो फिर से खेल दिल का खेलते है…..!!

हाथ ज़ख़्मी हुए तो कुछ अपनी ही खता थी…..
लकीरों को मिटाना चाहा किसी को पाने की खातिर….!

Hope you guys liked above Hindi Sad Shayari related to Love, however people also search for sad shayari with different terms i.e. s a d shayari, s.a.d shayari, shayari sad, shayari sad hindi, i shayari sad hindi, shayari in hindi sad, shayari hindi sad, sad dhayari  etc. Check below and dedicate some more Sad Shayari to your loved ones.

हमे पता था की उसकी मोहब्बत में ज़हर हैं ;
पर उसके पिलाने का अंदाज ही इतना प्यारा था की हम ठुकरा ना सके !

हमें तो प्यार के दो लफ्ज ही नसीब नहीं,
और बदनाम ऐसे जैसे इश्क के बादशाह थे हम!!

सहमी-सहमी हुई रहती हैं मकाने दिल में
आरज़ूएँ भी ग़रीबों की तरह होती हैं ..

साथ भी छोडा तो कब,जब सब बुरे दिन कट गए |
ज़िन्दगी तुने कहा आकर दिया धोखा मुझे ||

सलीक़ा हो अगर भीगी हुई आँखों को पढने का,
तो फिर बहते हुए आंसू भी अक्सर बात करते हैं

फुर्सत मिले तो कभी बैठ कर सोचना….
तुम भी मेरे अपने हो…
या सिर्फ हम ही तुम्हारे हैं ??

तोङ दिये हैं मैने अपने घर के सभी आईने,
नफरत है मुझे उनसे जो तुझसे मोहब्बत करते हैं.

उसकी बातों को बार बार याद करके रोये,
उसके लिये दर पे फरियाद करके रोये,
उसकी खुशी के लिये उसको छोड दिया फिर,
उसे किसी ओर के साथ आबाद करके रोये.
शौक से तोड़ो दिल मेरा मुझे क्या परवाह,
तुम ही रहते हो इसमें अपना ही घर उजाडोगे.

तन्हाई कुछ यूँ राझ आ गई है यारों,
अपने साये से भी हर पल दूर भागता हूँ.

जी लेंगे अगर जीना पड़ा तेरे बिना,
लेकिन आज भी तुज पे मर मिटने का ख़्वाब ✍ है।

s.a.d shayari img

वो हमारा हाल भी ना पुछ सके हमें बैहाल देखकर।
और हम कुछ बता भी ना सके उस बेवफा को खुशहाल देखकर।

उन्हें क्या पता जो कहते है हर वक़्त रोया ना करो,
मैं कैसे समझाऊं कुछ दर्द सहने के काबिल नही होते.

मौम की पहली बारिश का शौक तुम्हें होगा.
“हम तो रोज किसी की यादो मे भीगें रहते है.

मेरे दिल को आवाज देने वाले ये लफ़्ज भी आखिर बेवफ़ा निकले.
सर्दियो कि जरा सी आहट मे ठिठुरना शुरु कर दिए!.

साथ आयीं थी सुबह मुस्कुराते मुस्कुराते,
शाम घर को लौटती बुझी बुझी ये ख्वाहिशें.

सबको मेरा साथ अच्छा लगता है,
ए किस्मत कभी तु भी मेरा साथ दिया कर.

तेरे जाने के बाद,
हामने भावनाओं को काबू करना सिख लिया,
ए-बेरहम, तेरी मेहरबानी से मैने जीना सिख लिया.
सोचा था घर बना कर बैठुंगा सुकून से…
पर घर की ज़रूरतों ने मुसाफ़िर बना डाला !!

कुछ मेरे दिल से,
किया था वादा अपने आप से ना रोएँगे कभी,
तूने अपनी कहानी सुनाई और वादा टूट गया।

सुलाके सबको गहरी नींद में …
फिर अकेला क्युं अंधेरा जागता है!!!!!!

 s a d shayari imgSad Shayari

मुझे खामोश देखकर इतना हैरान क्यों होते हो दोस्तों।
कुछ नहीं हुवा है बस, भरोसा कर के धोखा खाया है।

शायरों की महफ़िलों में हम इसलिए भी जाते हैं,
हम से बिछड़ कर शायद वो भी शायर हो गयी हो.

सुनी थी सिर्फ हमने ग़ज़लों में जुदाई की बातें ;
अब खुद पे बीती तो हक़ीक़त का अंदाज़ा हुआ !!

सुना हे, वोह जब मायुश होते हे, हमे बहोत याद करते हे
अये खुदा, अब तुहि बता, उसकी खुशी की दुआ करु या मायुशि कि!!!

हथेलिया भर भर के दर्द न दे मुझे,
दर्द के समंदर ले बैठा हूँ में…

Hope you liked these best Hindi Sad Shayari collection. You can use these Hindi Sad Shayari for WhatsApp or Facebook and share in your circle.

Read more at WSW: https://whatsappstatusworld.com/